Introduction to HTML (Hypertext Markup Language)

HTML is one of the way to present information in the World Wide Web in a beautiful and attractive way. HTML was created by Tim Berners Lee in 1991. HTML is operated by the World Wide Web Consortium (W3C) as a standard. The W3C is an international community that works on creating and operating web standards.

When selected as a technology or language standard, then all platforms, developers and organizations follow it without any conditions. It does not matter what operating system or editor you are using, HTML is always used to create web pages.

Web pages created in HTML can be viewed on all platforms. You do not need any special platform or software for this. The HTML is platform independent.

Let's first try to understand the meaning of HTML. The full form of HTML is Hyper Text Markup Language. Each of these words has a special meaning that is explained in detail below.

Hyper

Hyper means that the HTML does not work in the sequence. As in any programming language, the next statement is executed after a statement. If there is a link in an HTML file and the user clicks on it, then it gets executed. It does not matter how many elements there are before and whether they are all loaded or not. All the elements of an HTML file are independent.

It is also not necessary that any other HTML file cannot be executed before any HTML file. Like all HTML elements, all the HTML files are independent of each other.

Text

Text is the most important in a webpage. Text is the information that is used to present in webpage. HTML is used to format and present text in WebPages.

Markup

Markup means format of layout and style of text. You mark text by tag. The kind of tags that mark the text is displayed in the web page text.

For example, if you mark a text by <h1> tag, that text will appear as a large and bold heading in the webpage.

Language

HTML is a language used for web development.

What is HTML?

HTML is a Hyper Text Markup Language that is used to create web pages. Using various tags of HTML, you create web pages and add various elements such as images, audio, video, tables, lists, links and text to them.

HTML is the first language taught in the field of web designing. CSS is also used with HTML which is used to make webpage even better. The logic is added to the webpage and page is created dynamically with the use of JavaScript.

HTML Versions

So far many of the HTML versions have come to the industry. Some new elements are added to every version of HTML. All the editions of HTML are being explained in detail below. All these versions show the history of HTML and the improvements done over time.

HTML 1.0

This was the first version of HTML. At that time very few people knew about this language and HTML was too limited. At that time nothing more could be done with HTML than creating WebPages with simple text.

HTML 2.0

This version contained all the features of HTML 1.0 Along with this version, the basic way of developing the HTML website was already done.

HTML 3.0

Until the arrival of this version the HTML was very popular. This version was stopped because of the compatibility issue with browsers. But later it was introduced with new and advanced tags.

HTML 3.2

In this version some new tags have been added after the previous version. This was the time when the W3C had declared the HTML standard for website development. The use of HTML was no longer limited and was being used extensively.

HTML 4.01

This version was introduced with some new tags as well as the cascading style sheet. At this time HTML was completely modernized.

HTML 5.0

This is the latest version of HTML. In this, some new tags have been provided for multimedia support. You can get more information about HTML5 from tutorial.

XHTML

This version came after HTML 4.01. In this XML was added with HTML.

Every function in the HTML is done by tags. So it's important to know about your tags to understand and use HTML properly. For detailed information about HTML tags, read the next tutorial.

Image result for htmlImage result for html

Fig : Example of HTML Coding and it's view on browser

HTML Tags

HTML tags are element names surrounded by angle brackets:

<tagname> Write your content here (coding or text) </tagname>

·        HTML tags normally come in pairs like <p> and </p>.

·        The first tag in a pair is the start tag (also called opening tag), the second tag is the end tag(also called closing tag).

·        The end tag is written like the start tag, but with a forward slash insert before the tag name.

Web Browsers

The purpose of a web browser (Chrome, IE, Firefox, Safari) is to read HTML documents and display them. The browser does not display the HTML tags, but uses them to determine how to display the document.

HTML Page Structure

Below is a visualization of an HTML Page Structure :

The <!DOCTYPE> Declaration

The <!DOCTYPE> declaration represents the document type, and helps browsers to display web pages correctly. It must only appear once at the top of the page (before any HTML tags). The <!DOCTYPE> declaration is not case sensitive. The <!DOCTYPE> declaration for HTML5 is <!DOCTYPE html>.

 


 

HTML का परिचय (हायपरटेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेज)

HTML information को सुन्दर और आकर्षक तरीके से World Wide Web  में present  करने का एक माध्यम है। HTML Tim Berners lee  के द्वारा 1991 में बनाई गयी थी। HTML World Wide Web Consortium (W3C)  द्वारा एक standard  के रूप में संचालित की जाती है। W3C एक international community  है जो web standards  बनाने और  संचालन करने का कार्य करती है।

जब एक technology या language standard  के रूप में चुन ली जाती है तो सभी platforms, developers और organizations बिना किसी शर्त के उसे  follow  करते है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है की आप कौनसा operating system या editor use कर रहे है Web Pages  बनाने के लिए हमेशा  HTML  का ही प्रयोग किया जाता है।

HTML में बनाये गए Web Pages  को सभी platforms पर देखा जा सकता है। इसके लिए आपको किसी प्रकार के special platform या software की आवश्यकता नहीं होती है। HTML platform independent है।

आइये अब सबसे पहले HTML का मतलब समझने का प्रयास करते है। HTML की full form Hyper Text Markup Language  होती है। इनमें से हर word  का एक विशेष अर्थ है जिसे नीचे विस्तृत रूप से समझाया जा रहा है।

Hyper

Hyper  का मतलब होता है की HTML sequence  में नहीं काम करती है। जैसा की किसी programming language  में होता है, एक statement  के बाद अगला statement execute  होता है। यदि किसी  HTML file में link है और यूज़र उस पर  click  करता है तो वो execute  हो जाती है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है की उससे पहले कितने elements  है और वो सभी load  हुए है या नहीं। एक HTML file के सभी elements independent  होते है।

ये भी जरुरी नहीं की किसी एक HTML file से पहले कोई  दूसरी HTML file execute  नहीं हो सकती है। HTML elements  की ही तरह सभी HTML files  भी एक दूसरे से independent  होती है।

Text

किसी webpage  में text  सबसे महत्वपूर्ण होता है। Text  ही वह information  होती है जिसे present  करने के लिए webpage design  किया जाता है। HTML text  को format  करके WebPages  में present  करने के लिए यूज़ की जाती है।

Markup

Markup  का मतलब text  के layout  और style  को  format  करना  होता है। आप text  को tags  के द्वारा mark  करते है। जिस प्रकार के tags  द्वारा text  को mark  किया जाता है  वैसे ही text web page  में show होता है।

उदाहरण के लिए  यदि आप किसी text  को <h1>  tag  के द्वारा mark  करते है  तो webpage में  वह text बड़ी और  bold heading  के रूप में दिखाई देगा।

Language

HTML  एक language  है जो web development  के लिए यूज़ की जाती है।

HTML क्या है ?

HTML  एक Hyper Text Markup Language  है जो web pages create  करने के लिए इस्तेमाल की जाती  है। HTML  के विभिन्न tags  को इस्तेमाल करते हुए आप web pages  बनाते  है और उनमें  विभिन्न elements जैसे की images, audio, video, tables, lists, links  और text  आदि जोड़ते है।

Web designing  के क्षेत्र में सीखी और सिखायी  जाने वाली HTML सबसे पहली  language होती है। HTML के साथ CSS का भी प्रयोग किया जाता है जो  webpage  को और भी बेहतर बनाने के लिए इस्तेमाल की जाती है। HTML  के साथ JavaScript  के प्रयोग से  webpage  में logic  जोड़ा जाता है और उन्हें dynamic बनाया जाता है।

HTML Versions

अब तक HTML के बहुत से version industry  में आ चुके है। HTML के हर version में कुछ नए elements जोड़े जाते है। HTML के सभी versions  के बारे में निचे विस्तृत रूप से बताया जा रहा है। ये सभी versions HTML  की  history  और समय के साथ किये गए improvements  को दर्शाते है।

HTML  1.0

ये HTML का पहला version  था। उस समय बहुत कम लोग इस language  के बारे में जानते थे और HTML  भी बहुत limited थी। उस समय HTML के द्वारा simple text के साथ WebPages create करने के अलावा ज्यादा कुछ नहीं किया जा सकता था।

HTML 2.0

इस version  में HTML  1.0 के सभी features  थे। इस version  के साथ ही HTML website develop  करने का बुनियादी माध्यम बन चुकी थी।

HTML 3.0

इस version  के आने तक HTML बहुत popular  हो चुकी थी। इस version  में browsers  के साथ compatibility problem  होने की वजह से इस version  को रोक दिया गया था। लेकिन बाद में नए और advanced tags  के साथ इसे introduce  किया गया था।

HTML 3.2

इस version  में पिछले version  के बाद कुछ नए tags add  किये गए। ये वो time था जब W3C ने website development के लिए HTML को standard  घोषित किया था। HTML का प्रयोग अब limited  नहीं रहा था और इसे व्यापक स्तर पर इस्तेमाल किया जा रहा था।

HTML 4.01

इस version  में कुछ नए tags  के साथ ही cascading style sheet  को भी introduce  किया गया था। इस समय HTML पूरी तरह modern language  बन चुकी थी।

HTML 5.0

ये HTML का latest version  है। इसमें multimedia support  के लिए कुछ नए tags provide  किये गए है। HTML5 के बारे में और अधिक जानकारी  आप tutorial  से प्राप्त कर सकते है।

XHTML

ये version HTML 4.01 के बाद आया था। इसमें HTML  के साथ XML  को add  किया गया था।

HTML  में हर कार्य tags  द्वारा किया जाता है। इसलिए HTML को ठीक से समझने और इस्तेमाल करने के लिए आपका tags  के बारे में जानना अतिआवश्यक है। HTML  tags  के बारे में विस्तृत जानकारी के लिए अगली tutorial  पढ़े।

Image result for htmlImage result for html

चित्र : HTML कोडिंग का उदाहरण और ब्राउज़र पर यह दृश्य है

HTML टैग

HTML टैग कोणीय कोष्ठकों से घिरे तत्व नाम हैं:

<टैग का नाम> यहाँ अपनी सामग्री लिखें (कोडिंग या टेक्स्ट) </ टैग का नाम>

·        HTML टैग सामान्य रूप से जोड़ी में आते हैं  जैसे <p> और </ p>

·        एक जोड़ी में पहला टैग प्रारंभ टैग है (इसे खोलने वाला टैग भी कहा जाता है), दूसरा टैग अंत टैग है (इसे समापन टैग भी कहा जाता है).

·        अंत टैग प्रारंभ टैग की तरह ही लिखा जाता है, लेकिन टैग नाम से पहले एक फ़ॉरवर्ड स्लैश लगाया जाता है ।

वेब ब्राउज़र्स

वेब ब्राउज़र (क्रोम, आईई, फ़ायरफ़ॉक्स, सफारी) का उद्देश्य HTML दस्तावेजों को पढ़ना और उन्हें प्रदर्शित करना है। ब्राउज़र एचटीएमएल टैग प्रदर्शित नहीं करता है, लेकिन दस्तावेज को प्रदर्शित करने के तरीके का निर्धारण करता है।

HTML पृष्ठ संरचना

नीचे एक HTML पृष्ठ संरचना का एक दृश्य है:

<! DOCTYPE> घोषणा

<! DOCTYPE> घोषणा दस्तावेज़ प्रकार को दर्शाती है, और ब्राउज़र को वेब पेज को सही ढंग से प्रदर्शित करने में मदद करता है यह केवल पृष्ठ के शीर्ष पर एक बार प्रकट होना चाहिए (किसी भी HTML टैग के पहले)। <! DOCTYPE> घोषणा केस संवेदनशील नहीं है <! DOCTYPE> HTML5 के लिए घोषणा <! DOCTYPE html> है।